image

UPSC MAINS की Main समस्या

बहुत से लोग इसी असमंजस में रहते है कि सिविल सेवा परीक्षा के मुश्किल दूसरे चरण की तैयारी कैसे करें।

हर साल, Union Public Service Commission (UPSC) सरकार की विभिन्न शाखाओं के लिए अधिकारियों की भर्ती के लिए सिविल सेवा परीक्षा आयोजित करता है। इस परीक्षा के तीन चरण होते हैं – प्रारंभिक या Preliminary (जिसे प्रीलिम्स के नाम से जाना जाता है), फिर मेन्स और आखिर में पर्सनैलिटी टेस्ट। इस परीक्षा के बाद अंतिम सूची मेन्स और पर्सनैलिटी टेस्ट में प्राप्त अंकों को मिलाकर तैयार की जाती है। और सच बताये तो 2025 अंको की इस परीक्षा में आधे से ज़्यादा तो mains परीक्षा के ही है। फिर भी अगर आप यह जानना चाहते है कि main परीक्षा महत्वपूर्ण क्यों है तो इस लेख को आगे पढ़ते रहे।

UPSC MAINS महत्वपूर्ण क्यों है?

मेन्स परीक्षा को महत्वपूर्ण मानने के तीन कारण हैं। एक, अंतिम सूची के लिए अंकों का वेटेज जो हम आपको बता ही चुके है । दूसरा, सामान्य अध्ययन के विशाल सिलेबस और वैकल्पिक विषयों की diversity जिससे यह  एक lengthy पेपर बन जाता है। तीसरा उन उम्मीदवारों के बीच competition जो भीषण preliminary चरण को पार करके आगे बढ़ आये है। इसलिए, एक सिविल सर्विसेज के कैंडिडेट को दूसरे चरण को क्रैक करने के लिए एक बेहद सटीक रणनीति की आवश्यकता होती है।

कई लोग इस बारे में चिंता करते हैं कि वे “एक अच्छा जवाब”कैसे दे सकते हैं। वैसे इसकी कोई एक परिभाषा नहीं है, लेकिन मोटा मोटा विचार यह कहता है कि अभिव्यक्ति और अच्छी प्रस्तुति बेहद ज़रूरी है एक अच्छा उत्तर देने के लिए। उत्तर को निबंध के रूप में या points के रूप में या दोनों के combination के रूप में लिख सकते हैं। यह प्रश्न पर निर्भर करेगा। याद रखें, मेन्स परीक्षा पाठ्यक्रम के विशाल दायरे को देखते हुए, यह परीक्षा  बेहद unpredictable हो सकती है।

इसलिए उम्मीदवार को आश्चर्य के लिए हमेशा  तैयार रहने की आवश्यकता है।

तैयारी करते समय, पाठ्यक्रम को जितना संभव हो सके, उतना ही कवर करने का प्रयास करें। अपने मजबूत subjects को किनारे करते हुए, कमजोरी वाले क्षेत्रों की उपेक्षा न करें। यदि अच्छी तरह से तैयार किया गया है, तो आप प्रश्न के अनुसार सभी points को जोड़ने के लिए तैयार होंगे और सफलता पा सकेंगे।

image

अपनी तैयारी के दौरान, पाठ्यक्रम को विभाजित करें ताकि आप अलग-अलग दृष्टिकोणों से इससे निपट सकें। दो वैकल्पिक यानी optional विषयों में 500 अंक शामिल होंगे; निबंध 250 अंकों का एक अलग पेपर है। शेष 1000 अंक सामान्य अध्ययन के रूप में divided हैं और विषयों की एक अलग category को कवर करते हैं। सुनिश्चित करें कि आपके वैकल्पिक या optional  विषय अच्छी तरह से तैयार हैं।

सामान्य अध्ययन पत्रों के लिए, प्रारंभिक चरण की तैयारी के दौरान काफी कुछ कवर किया गया होगा। सिलेबस को कवर करने के लिए एक चारो कोनों को पकड़ बनाने वाली रणनीति का उपयोग करें। नए resources की तलाश के बजाय जो पढ़ा है उस पर ध्यान दें। उम्मीदवारों को कई दृष्टिकोणों को एकीकृत करने के लिए अपनी सोच और analytical क्षमताओं का practice करने की आवश्यकता होगी।

उदाहरण के लिए आप, शासन, संविधान, राजनीति, सामाजिक न्याय और अंतर्राष्ट्रीय संबंधों और नैतिकता और इन्टेग्रीटी के बीच संबंध पा सकते हैं। पिछले question paper का अध्ययन भी इसी तरह के कनेक्शन का सुझाव देखने को मिलेगा ।

सिविल सेवा परीक्षा नाम के इस  पहाड़ पर चढ़ने के बहुत सारे तरीके हैं। जबकि कुछ रणनीतियाँ सभी के लिए सामान्य हो सकती हैं, यह पता लगाना सबसे अच्छा है कि कौन सा मार्ग आपको शिखर तक ले जाएगा।